Friday, October 25, 2019

World famous Pt. Ronu Majumdar celebrated Diwali with visually challenged beneficiaries of NAB


National Association for the Blind (India) arranged an unique Diwali Celebration on Friday,  25th October,  2019 at NAB Dept. of Rehabilitation,  C/o: Anand Niketan,  King George V Memorial Infirmary,  Mumbai. World renowned flautist Pt. Ronu Majumdar celebrated Diwali with the Visually Challenged beneficiaries of NAB, India.  



विश्व प्रसिद्ध बाँसुरी वादक पण्डित रोनू मजूमदार जी ,का नाम विश्व की ,वर्तमान युवा पीढ़ी के बीच बाँसुरीवादन को प्रचलित करने के लिए ,सँगीत के इतिहास में ,स्वर्णाक्षरों से अंकित है। पण्डित जी नाम किसी भी परिचय का मोहताज नहीं है,लगभग चार दशकों से बाँसुरी वादन को ही  अपनी पूजा, अपना कर्म ,अपना धर्म  अपना मंदिर ,मानने वाले पण्डित रोनू मजूमदार जी की अनूठी शैली का ,समूचा विश्व क़ायल है,और हो भी क्यों नही,पण्डित जी के वादन में लयकारी और विलक्षण ध्रुपद गायकी का सुंदर मिश्रण इसे अद्वितीय जो बनाता है।
मात्र  आठ या नौ साल की उम्र जब बालक को ठीक तरह से वाक्य रचना का भी ज्ञान नहीं होता,रोनू मजूमदार जी सुंदर राग रचनाएं बजाने लगे थे। ऐसी असाधारण प्रतिभा के ऐसे धनी कलाकार के लिए राय कुडर ने सत्य ही कहा है कि रोनू जी बाँसुरी के फीलगुड हैं।
पण्डित रोनू मजूमदार जी उर्फ रणेंद्र मजूमदार शास्त्रीय सँगीत के विद्वान विचारक ,यशस्वी कलाकार और बेहद ज़हीन शिक्षक हैं।


पण्डित रोनू मजूमदार जी ने अपने पिता डॉ भानु मजूमदार से बाल्यकाल में ही तालीम लेना शुरू किया तत्पश्चात पण्डित लक्ष्मण प्रसाद जी जयपुर वाले ,पण्डित विजय राघव राव, फिर पण्डित रविशंकर जी से भी मार्गदर्शन लेने का सौभाग्य प्राप्त किया।
मैहर घराने  का गौरवशाली परचम दुनियाँ भर में लहराने वाले पण्डित रोनू मजूमदार जी ने अपने अविष्कारों से हमेशा ही सँगीत प्रेमियों को चकित और आल्हादित किया है।

रोनू मजूमदार जी को अनेक पुरस्कारों से नवाज़ा गया है। सर्वप्रथम 1996 में ग्रेमी अवार्ड के लिए नामांकित हुए। भारत की पहली आई मैक्स फ़िल्म ,मिस्टिक इंडिया के लिए सँगीत बनाया। आर्ट ऑफ लिविंग के अंतर्गत वेणु नाद नामक कार्यक्रम का संचालन व मार्गदर्शन पण्डित जी ने किया  इस कार्यक्रम  के अंतर्गत  नासिक में 5378 बाँसुरी वादकों ने एक मंच पर बाँसुरी वादन कर गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रेकॉर्ड में नाम दर्ज़ कराया,जिसके मार्गदर्शक पण्डित जी थे।
हिंदुस्तानी सँगीत में बाँसुरी वादन के लिए,2014 में पण्डित जी को सँगीत नाटक अकादमी पुरस्कार प्रदान किया गया।
भारतीय फिल्म डिवीज़न ने पण्डित जी पर " बाँसुरी वाला" नामक वृतचित्र बनाया है।सँगीत प्रेमियों के लिए ,pt. Ronu Majumdar Flute, नामक एंड्रॉइड एप,निःशुल्क उपलब्ध है।

पण्डित जी अनेक गौरवशाली पुरस्कारों से सम्मानित किया गया जैसे-
1-ऑल इंडिया रेडियो पुरस्कार 1981
2-आदित्य विक्रम बिड़ला पुरस्कार 1996
3-राष्ट्रीय कुमार गन्धर्व पुरस्कार 2006
4-पण्डित जसराज गौरव पुरस्कार 2008
5-सँगीत नाटक अकादमी पुरस्कार 2014-15
6-महाराष्ट्र के माननीय मुख्यमंत्री श्री देवेंद्र फड़नवीस जी के करकमलों  से नवभारत टाइम्स द्वारा ,जीवन गौरव पुरस्कार प्राप्त हुआ।

No comments: